Quick Feed

कब कौन किस पर पड़ा भारी! लोकसभा में ‘मोदी vs राहुल’ की पूरी स्टोरी जानिए

कब कौन किस पर पड़ा भारी! लोकसभा में ‘मोदी vs राहुल’ की पूरी स्टोरी जानिए

राहुल गांधी सोमवार को खूब सुर्खियों में रहे. लोकसभा में उनके भाषण पर दिन भर माहौल गरमाया रहा. राहुल गांधी की “नमस्ते” वाली शिकायत का खुद प्रधानमंत्री ने जवाब दिया. इसके बाद राहुल गांधी ने “हिंदुओं और भगवान शिव” पर बयान दे दिया. इस पर अमित शाह से लेकर राजनाथ सिंह तक ने आपत्ति जताई. हालांकि, यह पहली बार नहीं है कि राहुल गांधी के बयान पर बवाल मचा हो, ऐसा पहले भी हो चुका है. राहुल गांधी और प्रधानमंत्री मोदी की वन टू वन भी संसद में कई बार हुई और इसके मीम्स तक बन चुके हैं और सोशल मीडिया पर वायरल हैं. यहां पढ़ें दोनों के बीच कब-कब और क्या हुए लोकसभा में संवाद…बात साल 2018 की है. संसद में मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में बोलते हुए राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर एक-एक कर कई सारे आरोप लगाए और सरकार को कटघरे में खड़ा किया. लोकसभा का पूरा माहौल गर्म था और राहुल गांधी काफी गंभीर नजर आ रहे थे. इसके बाद अचानक राहुल गांधी कहने लगे कि आप मुझे गाली दे सकते हैं, आप मुझे पप्पू कह सकते हैं, मगर मेरे भीतर किसी तरह की घृणा नहीं है. मैं आपके भीतर से घृणा को निकाल फेंकूंगा और प्यार भर दूंगा. यह कहते हुए राहुल गांधी सीधे अपनी जगह से पीएम मोदी के पास चले गये और उनसे हाथ मिलाया. फिर गले मिले. पीएम मोदी पहले तो थोड़े असमंजस में दिखे लेकिन फिर गर्मजोशी से राहुल गांधी से मिले. इसके बाद राहुल गांधी अपनी सीट पर आए और बगल में बैठे सांसद को देखकर आंख मार दी. बाद में पीएम मोदी ने भी आंख मारने वाले पर जवाब देते हुए कहा था, “पूरे देश ने आंखों की आंखमिचौली देखी है.” यह प्रकरण खूब चर्चा का विषय बना था.इससे पहले दिसंबर 2016 में नोटबंदी का विरोध करते हुए कहा था कि उन्हें संसद में बोलने नहीं दिया जा रहा. संसद में उन्हें बोलने दिया गया तो भूकंप आ जाएगा. इसका जवाब प्रधानमंत्री मोदी ने फरवरी 2017 में राष्ट्रपति के अभिभाषण की चर्चा के दौरान दिया. उन्होंने कहा, “कल भूकंप आया, आ ही गया. आखिर भूकंप आ ही गया. मैं सोच रहा था कि भूकंप आया कैसे? क्योंकि धमकी तो बहुत पहले सुनी थी. कोई तो कारण होगा कि धरती मां इतना रूठ गईं.” इन दोनों मामलों का फरवरी 2019 में भी पीएम मोदी ने जिक्र किया. संसद में पीएम मोदी ने कहा कि मैं भी पहली बार संसद में चुनकर आया था, यहां कई ऐसी बातें देखीं, जो पहले अनुभव नहीं की थी. लोकसभा में भूकंप आने की बातें कहीं गईं. हवाई जहाज उड़ाए गए, लेकिन 5 साल में न भूकंप आया और न किसी हवाई जहाज की उड़ान संसदीय लोकतंत्र की मर्यादा को छू पाई.  पहली बार मुझे इस सदन में आकर पता चला कि गले मिलने और गले पड़ने में क्या अंतर है. सदन में आंखों की गुस्ताखियां भी होती हैं. यह भी पहली बार पता चला.पीएम मोदी के दूसरे कार्यकाल में भी राहुल गांधी पर लोकसभा में भाजपा की महिला सांसदों की तरफ देखकर फ्लाइंग किस करने का वाक्या चर्चा में रहा. अगस्त 2023 में हुई घटना पर भाजपा की महिला सांसदों ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से लिखित शिकायत भी की थी. इसी तरह मोदी के दूसरे कार्यकाल के अंत में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा करते हुए राहुल गांधी ने तमाम मुद्दों पर भाजपा सरकार को घेरा था. इसके बाद उन्होंने पीएम मोदी पर आपत्तिजनकर बात कह दी. उन्होंने कहा, “नरेंद्र मोदी हिंदुस्तान की आवाज नहीं सुनते. दो लोगों की आवाज सुनते हैं. रावण भी दो लोगों की सुनता था. वैसे ही नरेंद्र मोदी सिर्फ दो लोगों की सुनते हैं.” इसका जवाब दूसरे दिन पीएम मोदी ने दिया. राहुल गांधी के नाम का जिक्र किए बगैर पीएम मोदी ने कहा, “इनका मोदी प्रेम जबरदस्त है. इनके सपने में भी मोदी आता है. अगर मोदी भाषण करते वक्त पानी पी ले तो सीना तानकर कहेंगे कि देखिए मोदी को पानी पिला दिया. अगर मैं धूप में जनता दर्शन को जाऊं तो कहेंगे मोदी को पसीना ला दिया. कांग्रेस बरसों से एक ही प्रोजेक्ट को लॉन्च करती है लेकिन हर बार वह फेल हो जाता है.””लोकतंत्र और संविधान ने मुझे सिखाया है कि विपक्ष के नेता को गंभीरता से लेना चाहिए” : PM मोदी#PMModi | #Loksabha pic.twitter.com/lfquQA6uT4— NDTV India (@ndtvindia) July 1, 2024आज फिर राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर लोकसभा में टिप्पणी की. राहुल गांधी ने लोकसभा में आज कहा, “मैं आपको बताता हूं, आज सुबह मैं आया. राजनाथ सिंह जी ने मुस्‍कुराकर के मुझे नमस्‍ते की. मोदी जी बैठे हैं तो मुस्‍कुराहट नहीं, सीरियस रहते हैं. नमस्‍ते भी नहीं करते हैं. कहीं मोदी जी न देख लें. वही कहानी गडकरी जी की है. अरे भई अयोध्‍या की जनता को छोड़ो ये तो बीजेपी वालों को डराते हैं.” इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खड़े होकर कहा “लोकतंत्र ने और संविधान ने मुझे सिखाया है कि मुझे विपक्ष के नेता को गंभीरता से लेना चाहिए.””जो अपने आपको हिंदू कहते हैं…” क्या है लोकसभा में राहुल का वह बयान, जिस पर हुआ पूरा हंगामा#RahulGandhi | #Loksabha pic.twitter.com/Mfe3I4n6QL— NDTV India (@ndtvindia) July 1, 2024इसके बाद राहुल गांधी ने हिंदुओं और भगवान शिव को लेकर बयान दे दिए. जिसपर जमकर हंगामा हुआ. अब आज पीएम मोदी लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा करेंगे. कांग्रेस और राहुल गांधी खुद भी इस इंतजार में होंगे कि प्रधानमंत्री मोदी आज क्या कहेंगे. 

Rahul Gandhi vs Narendra Modi in Lok Sabha : राहुल गांधी बनाम नरेंद्र मोदी संसद में कई बार देखने को मिला है. इस रिपोर्ट में पढ़ें कब-कब हुआ दोनों का आमना-सामना और कौन जीता…
Bol CG Desk

Related Articles

Back to top button