Quick Feed

NDTV ग्राउंड रिपोर्ट: घरवाले कहेंगे बेटी कहां गई? घर नहीं जाऊंगी.. और रो पड़ी दादी

NDTV ग्राउंड रिपोर्ट: घरवाले कहेंगे बेटी कहां गई? घर नहीं जाऊंगी.. और रो पड़ी दादीHathras Satsang Stampede LIVE Updates: सत्संग भगदड़ हादसे के बाद हाथरस में हर जगह मातम का माहौल है. इस दर्दनाक हादसे में अब तक 121 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है. इस हादसे के बाद से दादी अपनी पोती की तलाश में दर-दर भटक रही है. उर्मिला अपनी पोती के साथ बाबा के सत्संग में पहुंची थी, लेकिन यहां वो उनसे बिछड़ गई. दादी ने दर्दभरी आवाज में बताया कि वो सत्संग में अपनी 16 साल की पोती के साथ आई थीं. लेकिन धक्का-मुक्की में पोती उनसे बिछड़ गई. अपनी पोती के इंतजार में दादी रातभर अस्पताल में बैठी रहीं. उनसे जब पूछा गया कि क्या हुआ- तो उन्होंने बताया कि भगदड़ मची, लेकिन कुछ ना पतो क्या भयो… अब घरवाले पूछेंगे कि बेटी कहां गई. यह कहते वह रो पड़ीं और बोलीं इसलिए मैं घर नहीं जा पाई. पोती नहीं मिलेगी तो घर नहीं जाऊंगी.हाथरस सत्संग हादसे के बारे में जिसने भी सुना, उसकी आंखे भर आई. देश के कई राज्यों से सत्संग में पहुंचे लोग ऐसे हादसे का शिकार हो गए, जिसके बारे में शायद ही उन्होंने कभी सोचा हो. कई परिवार वाले अपने घर के लापता लोगों को तलाश रहे हैं, जबकि कुछ लोग अपने परिवारों से हमेशा के लिए जुदा हो गए. ये हादसा कितना भयावह है, इसका अंदाजा इससे लगा लीजिए कि घटनास्थल पर लाशों का ढेर लगा हुआ था. जब ये शव पोस्टमार्टम के लिए पहुंचे, तो वहां ड्यूटी पर तैनात सिपाही इतने शवों को देखकर इतना घबराया कि उसे हार्ट अटैक आ गया, इसके बाद उसे इलाज के लिए ले जाया गया. मगर बदकिस्मती से डॉक्टर्स भी सिपाही को नहीं बचा सके. इस सत्संग हादसे ने लोगों के जेहन में इतनी बुरी यादें छोड़, जिन्हें शायद ही कोई जिंदगी भर भुला सकें.बिखरी पड़ी लाशें, हर तरफ मची चीख-पुकार और सहमे बच्चे…यहां देखिए हादसे की ये तस्वीरेंभगदड़, चीखें…87 लोगों की मौत! आखिर हाथरस में कैसे हुआ इतना बड़ा हादसा?”जनसैलाब, भीषण गर्मी, अव्यवस्था, बाहर निकलने का संकरा रास्ता…”, चश्मदीदों ने बताई हाथरस हादसे की दर्दनाक कहानी LIVE UPDATES:

UP Hathras Stampede Tragedy LIVE Updates: हाथरस सत्संग हादसे ने पूरे देश को गमगीन कर दिया है. सत्संग में कई लोग अपने परिवार से बिछड़ गए. इन्हीं लापता लोगों को खोजने के लिए परिवार वाले जगह-जगह भटक रहे हैं.
Bol CG Desk

Related Articles

Back to top button