Quick Feed

Hathras Satsang Hadsa Live : सत्‍संग में मौत का तांडव, लगा शवों का ढेर, भगदड़ से अब तक 87 लोगों की मौत

Hathras Satsang Hadsa Live : सत्‍संग में मौत का तांडव, लगा शवों का ढेर, भगदड़ से अब तक 87 लोगों की मौतउत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हाथरस में एक सत्‍संग मातम में बदल गया. यहां पर मची भगदड़ में करीब 87 लोगों की मौत हो गई है. साथ ही इस हादसे में 150 से अधिक श्रद्धालु घायल भी हो गए हैं. हाथरस भगदड़ (Hathras Stampede) में मरने वालों में ज्‍यादातर महिलाएं और बच्‍चे शामिल हैं. यह भगदड़ सिकंदराराऊ थाना क्षेत्र के फुलरई गांव में आयोजित भोले बाबा के सत्संग में मची. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने लोकसभा में हाथरस सत्‍संग हादसे (Hathras Satsang Hadsa) पर दुख जताया और कहा कि भगदड़ में लोगों की मौत दुखद है. उन्‍होंने कहा कि पीड़ितों की हर संभव मदद की जाएगी. साथ ही मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने भी घटना पर दुख व्यक्त किया है और हादसे की जांच के लिए एक कमेटी का गठन किया है. ये भी पढ़ें : बिखरी पड़ी लाशें, हर तरफ मची चीख-पुकार और सहमे बच्चे… रुलाती हैं हाथरस सत्संग हादसे की ये तस्वीरेंप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाथरस में भगदड़ की घटना पर लोकसभा में कहा, “मारे गए लोगों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं और घायलों के शीघ्र ठीक होने की कामना करता हूं, प्रशासन राहत एवं बचाव कार्य में जुटा हुआ है.” #Hathrasstampede | लोकसभा में प्रधानमंत्री मोदी ने हाथरस हादसे पर जताया दुख#PMModi | #Hathras | #हाथरस | #UttarPradesh pic.twitter.com/5uuUImMCXU— NDTV India (@ndtvindia) July 2, 2024हाथरस के जिलाधिकारी आशीष कुमार पटेल ने बताया कि हाथरस में 50 से 60 शव लाए गए हैं. वहीं एटा सीएमओ के मुताबिक, अब तक एटा में 27 शव पहुंच चुके हैं. एसएसपी एटा राजेश कुमार ने बताया कि एटा पहुंचे 27 शवों में 23 महिलाएं, तीन बच्चे और एक पुरुष शामिल है. अभी तक कुल 87 लोगों की मौत हो गई है और करीब 150 लोग घायल हैं. जानकारी के मुताबिक, घायलों को बस-टैंपों में लादकर जिला अस्पताल ले जाया गया. डीएम और एसपी मौके पर पहुंच गए है. साथ ही मौके पर कई थानों की फोर्स भी बुलाई गई है. बिखरा सामान, चारों ओर सन्‍नाटा… मौके पर अब क्‍या है स्थिति सिंकदाराऊ से 5 किमी दूर एटा रोड पर सत्संग का यह टैंट लगा है. खुले खेत में करीब 100 बीघे में सत्संग का आयोजन किया गया था. भगदड़ के बाद यहां मौत का मातम पसरा हुआ है. टाट-पट्टी बिखरी पड़ी है. चारों तरफ सन्नाटा है. कुछ देर पहले वहां क्या हुआ होगा, उसकी गवाही चारों तरफ बिखरा लोगों का सामान दे रहा है. आखिर भगदड़ कैसे हुई. टैंट  को देखने पर एंट्री और एग्जिट गेट पर शक होता है. अंदर जाने और निकलने के लिए बहुत छोटा रास्ता बनाया गया था.  बताया जा रहा है भगदड़ की वजह गर्मी, उमस और घुटन है. बंद टेंट में लोगों ने बाहर आना शुरू किया और फिर भगदड़ मच गई.10 सालों से चल रहा था सत्‍संग, हजारों लोग जुटे थे स्थानीय लोगों के मुताबिक करीब 10 सालों से सत्संग चल रहा था. मंगलवार को हाथरस के सिकंदराराऊ के रत्तीभानपुर में सत्संग हो रहा था, सत्संग में करीब 5 से 10 हजार लोग जुटे हुए थे. रिपोर्ट्स के मुताबिक गर्मी ज्यादा थी और भगदड़ हो गई. एक के ऊपर एक लोग भागने लगे, यह जानलेवा साबित हुआ. अभी तक 87 की मौत की खबर, करीब 150 घायल बताए जा रहे हैं. घायलों को ऐटा ले जाया गया, कुछ को सिकंदराराऊ के ट्रोमा सेंटर में भर्ती कराया गया. मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये का मुआवजा हाथरस की दुर्घटना पर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने के निर्देश दिए हैं. साथ ही इस मामले में कार्यक्रम के आयोजकों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज की जाएगी. प्रशासन आयोजकों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की तैयारी में है.  कौन है सत्संग वाले बाबा नारायण साकार हरिहाथरस में बाबा नारायण साकार हरि के सत्संग में भगदड़ मची. पुलिस के मुताबिक, फुलरई गांव में नारायण साकार हरि का सत्संग चल रहा था. सत्संग वाली जगह छोटी थी और भीड़ बहुत ज्यादा थी. नारायण साकार हरि एटा के बहादुर नगरी गांव के रहने वाले हैं. उनकी शुरुआत पढ़ाई लिखाई यहीं हुई. कॉलेज के बाद वो आईबी में नौकरी करने लगे और बाद में आध्यात्म की तरफ मुड़ गए. उन्‍होंने बाद में अपना नाम बदलकर नारायण साकार हरि रख लिया. वह गेरुआ कपड़े नहीं पहनते और सफेद सूट, टाई और जूते में नजर आते हैं.  उनकी उत्तर प्रदेश के जिलों में अच्छी पैठ है. राष्‍ट्रपति ने हादसे पर जताया दुख राष्‍ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने भी हादसे पर दुख जताया है. उन्‍होंने एक्‍स पर कहा, “उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में हुई दुर्घटना में महिलाओं और बच्चों सहित अनेक श्रद्धालुओं की मृत्यु का समाचार हृदय विदारक है. मैं अपने परिवारजनों को खोने वाले लोगों के प्रति गहन शोक संवेदना व्यक्त करती हूं तथा घायल हुए लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करती हूं.”#HathrasStampede: हाथरस घटना पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने जताया शोक. pic.twitter.com/RlwEi2AM3g— NDTV India (@ndtvindia) July 2, 2024CM योगी ने घटना पर जताया दुख मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने हाथरस हादसे को दुर्घटना पर दुख जताते हुए अपने एक एक्‍स पोस्‍ट में कहा, “जनपद हाथरस की दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना में हुई जनहानि अत्यंत दुःखद एवं हृदय विदारक है. मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिजनों के साथ हैं. संबंधित अधिकारियों को राहत एवं बचाव कार्यों के युद्ध स्तर पर संचालन और घायलों के समुचित उपचार हेतु निर्देश दिए हैं.”हाथरस हादसे पर UP CM योगी आदित्यनाथ का ट्वीट “जनपद हाथरस की दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना में हुई जनहानि अत्यंत दुःखद एवं हृदय विदारक है..”#CMYogi । #Hathras । #Hathrasstampede pic.twitter.com/lHhV6qXTU1— NDTV India (@ndtvindia) July 2, 2024कांग्रेस अध्‍यक्ष खरगे ने भी घटना पर जताया दुख वहीं कांग्रेस अध्‍यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने भी हादसे पर दुख जताया है. उन्‍होंने अपने एक एक्‍स पोस्‍ट में कहा, “उत्तर प्रदेश के हाथरस के सत्संग में भगदड़ मच जाने से कई श्रद्धालुओं की मृत्यु की खबर बेहद पीड़ादायक है. हादसे के दृश्य अत्यंत हृदयविदारक हैं. शोकाकुल परिवारों के प्रति हम गहरी संवेदनाएं व्यक्त करते हैं. सरकार एवं प्रशासन से आग्रह करते हैं कि घायलों के उपचार में कोई कमी न रखें व पीड़ितों को त्वरित मुआवज़ा उपलब्ध कराया जाए. विपक्षी दलों के कार्यकर्ताओं से अनुरोध है कि हादसे में पीड़ित लोगों को हर संभव मदद पहुंचाएं.”उत्तर प्रदेश के हाथरस के सत्संग में भगदड़ मच जाने से कई श्रद्धालुओं की मृत्यु की खबर बेहद पीड़ादायक है। हादसे के दृश्य अत्यंत हृदयविदारक हैं।शोकाकुल परिवारों के प्रति हम गहरी संवेदनाएँ व्यक्त करते हैं। सरकार एवं प्रशासन से आग्रह करते हैं कि घायलों के उपचार में कोई कमी न रखें व…— Mallikarjun Kharge (@kharge) July 2, 2024राहुल गांधी ने भी हादसे पर दुख जताया है. उन्‍होंने कहा, “उत्तर प्रदेश के हाथरस में सत्संग के दौरान मची भगदड़ से कई श्रद्धालुओं की मृत्यु का समाचार अत्यंत पीड़ादायक है. सभी शोकाकुल परिजनों को अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की आशा करता हूं. सरकार और प्रशासन से अनुरोध है कि घायलों को हर संभव उपचार एवं पीड़ित परिवारों को राहत उपलब्ध कराएं. INDIA के सभी कार्यकर्ताओं से अनुरोध है कि राहत और बचाव में अपना सहयोग प्रदान करें. “उत्तर प्रदेश के हाथरस में सत्संग के दौरान मची भगदड़ से कई श्रद्धालुओं की मृत्यु का समाचार अत्यंत पीड़ादायक है।सभी शोकाकुल परिजनों को अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की आशा करता हूं।सरकार और प्रशासन से अनुरोध है कि घायलों को हर संभव उपचार एवं…— Rahul Gandhi (@RahulGandhi) July 2, 2024सीएम योगी ने अधिकारियों को दिए निर्देश उत्तर प्रदेश सरकार ने हाथरस की घटना के बाद मुख्य सचिव और डीजीपी को हाथरस के लिए रवाना किया है. मुख्यमंत्री के निर्देश पर अधिकारियों के अलावा मंत्री लक्ष्मी नारायण और संदीप सिंह भी हाथरस जाकर हालात का जायजा लेंगे. #BREAKING: UP सरकार ने हाथरस की घटना के बाद मुख्य सचिव और डीजीपी को हाथरस के लिए रवाना किया. मुख्यमंत्री के निर्देश पर अधिकारियों के अलावा मंत्री लक्ष्मी नारायण और संदीप सिंह भी हाथरस जाकर हालात का जायज़ा लेंगे.#UttarPradesh #HathrasStampede pic.twitter.com/J3ttPCCOi1— NDTV India (@ndtvindia) July 2, 2024इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लेते हुए अधिकारियों से राहत कार्य में जुटने के लिए कहा है. साथ ही उन्‍होंने अधिकारियों को तत्काल मौके पर पहुंच कर राहत कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिये हैं. हाइसे की जांच के लिए गठित की गई टीम मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने हादसे की जांच के लिए कमेटी गठित की है. इस हादसे की अलीगढ़ मंडल के वरिष्ठ अफसर की कमेटी जांच करेगी. एडीजी आगरा और कमिश्नर अलीगढ़ की अध्यक्षता में कमेटी का गठन किया गया है. Uttar Pradesh | Hathras Stampede | A team consisting of ADG Agra and Aligarh Commissioner has been constituted to enquire into the cause of the incident: Official Sources— ANI (@ANI) July 2, 2024सोशल मीडिया पर हादसे के कई वीडियो वायरल सोशल मीडिया पर इस घटना के कई वीडियो आए हैं, जिनमें कई लोग अस्‍पताल परिसर के बाहर अचेत अवस्‍था में नजर आ रहे हैं. ये भी पढ़ें :* “…तो एक दिन भारत की बहुसंख्यक आबादी अल्पसंख्यक हो जाएगी” : धर्मांतरण पर इलाहाबाद हाईकोर्ट* लोकसभा चुनाव में मिले शून्य से संकट में आई बसपा, छिन सकती है यह मान्यता* योगी के खास IAS मनोज कुमार यूपी के नए मुख्य सचिव: जानिए क्या है यह पद, कितनी पावर और कितनी सैलरी

Hathras Stampede : उत्तर प्रदेश के हाथरस में एक सत्‍संग के समापन अवसर पर भगदड़ मच गई. हादसे में महिलाओं और बच्‍चों सहित 87 लोगों की मौत हो गई है.
Bol CG Desk

Related Articles

Back to top button