छत्तीसगढ़बिलासपुर संभागभारतमध्यप्रदेशराजनीति

कांग्रेस राज में भय,आतंक और भ्रष्टाचार का राज,मोदी सरकार में राम राज चल रहा है :अरुण साव

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव ने बिलासपुर में आयोजित आमसभा को संबोधित करते हुए कहा कि अरपा नदी के तट पर मां बिलासा के आंचल में उपस्थित स्थान में विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत में, विश्व की सबसे बड़े राजनीतिक दल भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय जगत प्रकाश नड्डा जी का स्वागत कर हम अभिभूत हैं। श्रीमान नड्डा जी के लिए छत्तीसगढ़ एकदम अपने घर जैसा है। छत्तीसगढ़ संगठन के प्रभारी रहने के दौरान प्रदेश के कस्बे-टोलों तक माननीय नड्डा जी का प्रवास हुआ है। यहां अधिकांश कार्यकर्ताओं को हमारे माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष जी उनके नाम से जानते हैं। सभी के साथ उनके जीवंत और पारिवारिक जैसे संपर्क- संबंध हैं, यह हम सबके लिए सम्मान का विषय है। माननीय नड्डा जी के कुशल नेतृत्व में भाजपा लगातार आगे बढ़ रही है।

नड्डा जी भारत के स्वास्थ्य मंत्री भी रहे। विश्व की सबसे बड़ी और सबसे चर्चित ‘आयुष्मान भारत योजना’ शुरू हुई। माननीय मोदी जी ने इस योजना की शुरुआत के लिए भी छत्तीसगढ़ के बस्तर को ही चुना। यहीं के बीजापुर के जांगला से यह योजना शुरू हुई थी।

मित्रों, भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने अपने ऐतिहासिक कार्यकाल के 9 वर्ष पूरे किये हैं। ये 9 वर्ष वास्तव में सेवा, सुशासन और गरीब कल्याण के वर्ष के रूप में सदियों तक याद किए जाते रहेंगे। इस महान राष्ट्र के मुखिया, स्वयं को प्रधान सेवक कहने वाले मोदी जी, और इस महान संगठन के मुखिया माननीय नड्डा जी के सांगठनिक नेतृत्व का यह कालखंड हिंदुस्थान के पुनर्जागरण का काल है। यह हमारी चेतना में राष्ट्रीय सरोकारों के समाहित होने का कालखंड है। यह उस संकल्प के सिद्ध होने का कालखंड है, जिस संकल्प को हमारे डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी, पंडित दीनदयाल उपाध्याय जैसे मनीषियों ने लिया था।

अरुण साव

यह समय उस विकास यात्रा, विजय यात्रा को निरंतरता प्रदान करने का है, जिसकी शुरुआत 2014 में हुई थी। दशकों के कांग्रेसी शासन में हम में एक हीनग्रंथि रोप दी गयी थी। हिंदू कहलाने में ऐसा लगता था मानो कोई अपराध कर रहे हों हम, छद्म धर्मनिपेक्षता का शिकार होकर हम अपना गौरव ही भूल गए थे, कम्युनिस्ट विचारधारा से प्रभावित शासकों ने हममें आत्महीनता का संक्रमण कर दिया था। इन तमाम विडंबनाओं से पार पा कर भारत आज मोदी जी और नड्डा जी के नेतृत्व में फिर से उठ खड़ा हुआ है। पिछले 9 वर्ष में देश ने अंगड़ाई ली है। भारत का सोया स्वाभिमान और आत्मसम्मान आज भाजपा के शासन में जगा है और दुनिया हमारी ताकत को आज आदर से देख रही है। विश्व आज अपनी अधिकांश समस्या के लिए हमारी तरफ अगर उम्मीद से देख रहा है, तो निस्संदेह इसका श्रेय मोदी जी की सरकार को जाता है।

फॉलो करें क्लिक करें

अगर अमेरिका में आज वहां के राष्ट्रपति लालायित दिखते हैं हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी से मिलने के लिए, अगर अन्य देशों के राष्ट्राध्यक्ष भी तमाम प्रोटोकोल तोड़ कर हमारे प्रधानमंत्री जी का पांव तक छू लेना चाहते हैं, या प्रसिद्द अमेरिकी गायिका हमारा राष्ट्रगान गाने के बाद मोदी जी के चरणों में झुक जाती है, तो निश्चय ही यह मां भारती को उसके पुरा वैभव के पद पर हिन्दुस्थान के विश्व गुरु के पद पर आसीन कराने के अपने स्वप्न का साकार होना, अपने संकल्प का सिद्ध होना ही कहा जाएगा। जैसा कि ब्रिटेन यात्रा के दौरान वहां के प्रधानमंत्री जॉनसन ने कहा था इस विश्व में एक ही सूर्य है, एक ही – चन्द्रमा है, और एक ही मोदी जी हैं।

मित्रों, एक तरफ जहां मोदी जी के नेतृत्व में भारत लगातार उपलब्धियों का शिखर स्पर्श कर रहा है, वहीं प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने अपने तानाशाही और छत्तीसगढ़ विरोधी रवैये से प्रदेश का बंटाधार कर दिया है। कांग्रेस ने सबसे काला दस्तावेज़ वह जारी किया था जिसे उसने ‘जन घोषणा पत्र का नाम दिया था। स्वतंत्र भारत के राजनीतिक इतिहास में इस तरह के ठगी का दस्तावेज दूसरा कोई नहीं है। बड़े बड़े लुभावने वादे कर सत्ता में आने में सफल रही कांग्रेस ने बाद, जैसी धोखाधड़ी, जिस तरह का विश्वासघात छत्तीसगढ़ की जनता के साथ किया, जैसे न केवल वह अपने तमाम वादों से मुकर गयी बल्कि अनेक मामले में तो सीधे उसका उलट किया जैसे उसने कहा था, मसलन शराबबंदी का वादा कर शराब की होम डिलीवरी शुरू कर दी।

मंडी टैक्स खत्म करने का वादा कर उसे कई गुना बढ़ा दिया। 10 लाख युवाओं को बेरोजगारी भत्ते देने की लिखित घोषणा के बाद भी उससे सीधे हुए कहा कि ऐसी तो कोई घोषणा की ही नहीं गयी थी। ऐसी ठगी का कीर्तिमान स्थापित कर दिया हुआ है कांग्रेस ने हम सबको अपने संगठित प्रयास से यह बताना होगा कि काठ की हांडी एक बार ही चढ़ती है, ऐसी ठगी कर देश भर का भरोसा खो चुकी कांग्रेस को छत्तीसगढ़ से भी उखाड़ फेकना होगा।

जन घोषणा पत्र में बड़े-बड़े वादे कर सत्ता पाने के बाद अब उस घोषणा पत्र के संयोजक रहे टी. एस. सिंहदेव के साथ जैसा व्यवहार मुख्यमंत्री ने किया है, जिस तरह छत्तीसगढ़ के कैबिनेट में फेरबदल के निर्णय की घोषणा तमाम संवैधानिक मर्यादाओं को धता बताते हुए अब कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के नाम से हो रही है, जिस तरह का अपमान का अपमान लगातर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष आदिवासी समाज से आने वाले मोहन मरकाम का प्रदेश प्रभारी सैलजा कर रही हैं, जिस तरह अध्यक्ष का निर्णय भी प्रभारी गलत तरीके से बदल दे रही हैं, इससे यह साफ़ लगता है कि कांग्रेस को न तो देश के संविधान की चिंता है, और न ही पार्टी के संविधान से ही सीधे तौर पर दस जनपथ की तानाशाही चल रही है प्रदेश में और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बस राहुल-प्रियंका का मोहरा मात्र बन कर राज कर कर रहे हैं। जिस तरह की ठगी मुख्यमंत्री ने गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू के साथ की है, इन सबसे यही लग रहा है कि विभाजनकारी एजेंडे के तहत कांग्रेस का यही नारा है कि बांटों और राज करो, फिर राज करो और गांधी परिवार में लूट की रकम बांट दो।

प्रदेश में आज क़ानून व्यवस्था का हाल सबसे खराब है। कांग्रेस शासन के दौरान लगभग 26 हज़ार युवा आत्महत्या कर चुके हैं, 1 हजार किसानों ने खुदकुशी कर ली, 10 हज़ार से अधिक हत्या और बलात्कार के मामले इस दौरान दर्ज हुए हैं, 25 हज़ार से अधिक आदिवासी बच्चों की चिकित्सा के अभाव में मौतें हुई हैं, ऐसे भयावह हालात छत्तीसगढ़ ने कभी नहीं देखे थे। प्रदेश में कांग्रेस के आते ही माफियाओं की चल पड़ी है। प्रदेश में शराब माफिया, पीएससी माफिया, कोल माडिया, रेत माफिया, भू माफिया, ड्रग्स माफिया, तस्कर माफिया, तबादला माफिया, धर्मान्तरण माफिया से लेकर हर तरह के आपराधिक, असामाजिक तत्वों की जकड़ मजबूत हो रही है। इन सबके पीछे कांग्रेस का हाथ, कांग्रेस का संरक्षण है। लूट, डकैती, अपहरण आदि यहां उद्योग की शक्ल ले चुका है। प्रदेश का सारा संसाधन देश हर में कांग्रेस के लिए चुनाव लड़ने और बघेल की नेतागिरी चलते रहे, इसलिए खर्च की जी रही है। ऐसे अनाचारों की कहानी अंतहीन है जिसके खिलाफ हम सबको एकजुट होकर जुट जाना है।

इसने जैसे एक तरफ 99 प्रतिशत रोजगार का 15 लाख नौकरी का दावा और दूसरी तरफ चपरासी के 90-95 पदों के खिलाफ 2 लाख से ज्यादा छत्तीसगढ़ी युवाओं द्वारा आवेदन करना, इस सरकार की पोल खोलने के लिए काफी है।

शराबबंदी की बात कर उसमें दो हजार करोड़ का घोटाला करना, कोयला, सीमेंट, आयरन और समेत रेत, जमीन, गोठान आदि कोई भी मामला ऐसा नहीं है जहां कांग्रेस की इस सरकार ने लूट नहीं मचाई हो । आज सीएम के करीबी बड़े-बड़े लोग जेल जा रहे हैं, उन्हें किसी भी अदालत से जमानत तक नहीं मिल पा रही है, फिर भी जिस तरह मुख्यमंत्री भूपेश जी डींगे हांक रहेहैं, उससे छत्तीसगढ़ की जनता खुली आंखों से देख-सुन पा रही है। जनता ने इनके झांसे में आ कर एक बार भले प्रदेश की सत्ता सौंप दी है, लेकिन अब यह तय है कि कांग्रेस के काठ की हांडी अब दुबारा नहीं चढ़ने वाली है।

माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष जी को हम प्रदेश भाजपा के कार्यकर्तागण यह भरोसा दिलाना चाहते हैं कि उनके नेतृत्व में हम सभी मिल कर कांग्रेस की इस सरकार को उखाड़ फेकने में कोई कसर बाकी नहीं रखेंगे। समूचे देश की तरह छत्तीसगढ़ में भी कांग्रेस मुक्ति का सपना निश्चय ही साकार हो कर रहेगा। आदरणीय शाह जी के ‘कांग्रेस मुक्त भारत’ का उद्घोष हमारे लिए एक मंत्र की तरह है, उस लक्ष्य को हासिल करने में छत्तीसगढ़ के भाजपा कार्यकर्ता निश्चय ही परिश्रम की पराकाष्ठा पार कर देंगे, इसमें रंच मात्र भी संदेह नहीं है।

इसे भी पढ़ें रायपुर पश्चिम में हुआ लाभार्थी सम्मेलन, जुटे हजारों लाभार्थी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button