Quick Feed

‘जितना सफर, उतना ही टोल’, NDTV इंफ्राशक्ति अवॉर्ड्स में बोले गडकरी- 3 महीने में शुरू होगी सुविधा

‘जितना सफर, उतना ही टोल’, NDTV इंफ्राशक्ति अवॉर्ड्स में बोले गडकरी- 3 महीने में शुरू होगी सुविधा

भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बनाने के लक्ष्य को हासिल करने के लिए मोदी सरकार (Modi Government) लगातार कोशिशें कर रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की लीडरशिप में देश ने 10 साल में इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में कई उपलब्धियां हासिल की. ऊर्जा, सड़क, शहरी बुनियादी ढांचा, रेलवे, एयरपोर्ट जैसे सेक्टरों में मोदी सरकार ने इस साल ऐसे प्रोजेक्ट शुरू किए, जिससे इंफ्रास्ट्रक्चर का कायाकल्प हुआ. NDTV इंफ्रास्ट्रक्चर में हुए डेवलपमेंट को लेकर Infrashakti Awards का आयोजन कर रहा है. इसका मकसद पूरे भारत में उत्कृष्ट इंफ्रास्ट्रक्चर का जश्न मनाना है. Infrashakti Awards में केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने अगले 5 साल का रोडमैप पेश किया. गडकरी ने इस दौरान टोल टैक्स को लेकर बड़ा ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि अब जितना सफर, उतना ही टोल देना होगा. 3 महीने के अंदर ये सुविधा शुरू हो जाएगी.NDTV के एडिटर इन चीफ संजय पुगलिया के साथ खास चर्चा में नितिन गडकरी ने बताया कि तीसरे टर्म में मोदी सरकार देश के इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए कौन-कौन सी पहल करने जा रही है. गडकरी ने बताया, “अभी सबसे बड़ी समस्या प्रदूषण की है. वायु प्रदूषण, जल प्रदूषण और भूमि प्रदूषण. हमारा पहला कदम- इन प्रदूषण को कम करना और इसे दूर करना होगा. दिल्ली की बात करें, तो प्रदूषण कम करने के लिए ज्यादा से ज्यादा इलेक्ट्रिक बसें चलाई जाएंगी. ये कॉस्ट इफेक्टिव भी रहेगा. हम इलेक्ट्रिक टैक्सी को भी प्रमोट कर रहे हैं.”गडकरी ने कहा, “इलेक्ट्रिक व्हीकल से बचत भी होगा और प्रदूषण भी कम होगा. अब 120 रुपये का पेट्रोल डालने के बजाय 65 रुपये के एथेनॉल पर चलेगी, तो इससे बचत होगा ही.” बता दें कि इथेनॉल को इलेक्ट्रिक व्हीकल को चलाने के लिए एक विकल्प के रूप में माना जा रहा है, जो ग्रिड से बिजली की जगह लेगा और लिथियम बैटरी को रिचार्ज करने के लिए प्लगइन सिस्टम की जरूरत को भी खत्म करेगा.

Infrashakti Awards में केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने अगले 5 साल का रोडमैप पेश किया. गडकरी ने बताया, “अभी सबसे बड़ी समस्या प्रदूषण की है. वायु प्रदूषण, जल प्रदूषण और भूमि प्रदूषण. हमारा पहला कदम- इन प्रदूषण को कम करना और इसे दूर करना होगा.
Bol CG Desk

Related Articles

Back to top button