छत्तीसगढ़राजनीतिरायपुर संभाग

Congress में टिकटों को लेकर मचे घमासान से मंडरा रहे ‘विद्रोह के तूफानी बादल’

रायपुर। छत्तीसगढ़ में Congress को अंदरूनी कलह का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि पार्टी के लिए विधानसभा चुनाव के टिकट के इच्छुक उम्मीदवारों की संख्या बढ़ रही है और कई लोगों को नामांकन से वंचित कर दिया गया है, जो उसे सबक सिखाने की धमकी दे रहे हैं। कई नेताओं ने तो नामांकन फार्म तक खरीद लिया है और कुछ नामांकन प्रक्रिया शुरू होने का इंतजार कर रहे हैं। ऐसे में टिकटों को लेकर मचे घमासान के मंडरा रहे ‘विद्रोह के तूफानी बादल’ कांग्रेस के लिए खतरे की घंटे है। 

बता दें कि छत्तीसगढ़ के 90 विधानसभा सीटों के लिए दो चरणों में चुनाव होना है। इसमें 7 नवंबर को 20 विस सीटों के लिए वोटिंग होगी तो वहीं शेष 70 सीटों पर 17 नवंबर को वोट डाले जाएंगे। रिजल्ट 3 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे। पहले चरण के चुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया चल रही है। 20 अक्टूबर को नामांकन फार्म जमा करने का अंतिम दिन है। छत्तीसगढ़ के मुख्य राजनीतिक पार्टियां कांग्रेस और भाजपा ने पहले चरण में होने वाले चुनाव के लिए सभी विस सीटों पर प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं। कांग्रेस ने अब तक 90 में से 83 और भाजपा ने 86 उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। 

कांग्रेस पार्टी ने नवरात्र के पहले दिन 30 प्रत्याशियों की सूची जारी की थी। इसमें मौजूदा 8 विधायकों के टिकट काटे थे। जिनमें पंडरिया विधानसभा से ममता चंद्राकर, खुज्जी से छन्नी साहू, दंतेवाड़ा से देवती कर्मा, अंतागढ़ से अनूपनाग, कांकेर से शिशुपाल सोरी, चित्रकोट से राजमन बेंजाम, डोंगरगढ़ से भुनेश्वर बघेल और नवागढ़ से गुरूदयाल बंजारे शामिल हैं। इन सीटों पर पहले चरण में चुनाव होना है। नामांकन की प्रक्रिया चल रही है। ऐसे में कुछ मौजूदा विधायकों ने पार्टी से विद्रोह करते हुए निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है। इनमें अंतागढ़ से अनूप नाग, डोंगरगढ़ से भुनेश्वर बघेल और चित्रकोट से राजमन बेंजाम द्वारा नामांकन फार्म लेने की चर्चा है। अनूप नाग ने नामांकन फॉर्म भी भर दिया है।

दूसरी ओर बुधवार को 53 प्रत्याशियों की लिस्ट जारी की गई है। इनमें भी 10 मौजूदा विधायकों के टिकट काटे गए हैं। इनमें धरसींवा से अनिता शर्मा, लैलूंगा से चक्रधर सिंह सिदार, बिलाईगढ़ से चंद्रदेव राय, रामानुजगंज से बृहस्पत सिंह, सामरी से चिंतामणी महाराज, पाली तानाखार से मोहित केरकेट्‌टा, मनेंद्रगढ़ से विनय जायसवाल, प्रतापपुर से प्रेमसाय टेकाम, जगदलपुर से रेखचंद जैन और रायपुर ग्रामीण से सत्यनारायण शर्मा शामिल हैं। हालांकि सत्यनारायण शर्मा पहले ही ऐलान कर चुके थे कि इस बार वे चुनाव नहीं लड़ेंगे। उन्होंने अपने बेटे पंकज शर्मा के लिए टिकट मांगी थी। पार्टी ने उनकी बात मानी और पंकज को प्रत्याशी बनाया है। ऐसे में उनका टिकट कटना कहना गलत होगा। 

अब इनमें भी कुछ लोगों के निर्दलीय लड़ने की बात सामने आ रही है। हालांकि इन विधायकों के विधानसभा क्षेत्रों में दूसरे चरण के तहत मतदान होना है। इसलिए यहां नामांकन की प्रक्रिया शुरू नहीं हुई है। नामांकन फार्म की प्रक्रिया शुरू होने के बाद ही स्पष्ट होगा कौन पार्टी से बगावत कर लड़ेगा या फिर पार्टी मनाने में कामयाब होगी।

Onima Shyam Patel

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button